Kaala Sach
ब्रेकिंग न्यूज़
क्राइम राजनीति लाइव

बदकिस्मती “इरादा था फौजी बनने का, कांड कर डाला कुछ ओर”। देखिये फिर क्या हुआ…..

“ऐसे चार दोस्त जिनका सपना था फौज में जाने का, लेकिन किस्मत को यह मंजूर न था और एक गलती ने चारों को बना दिया चोर”

सोशल मीडिया का उपयोग कर जहां लोग अपना कैरियर बना रहे हैं तो वहीं चार दोस्तों ने इसका गलत इस्तेमाल कर अपनी लाइफ ही बर्बाद कर ली। जिनका सपना फौज में जाकर देश सेवा करने का था वो बदकिस्मती से चन्द पैसों के लालच में हवालात पहुंच गये और जिन्हें फौजी बनना था किस्मत ने उन्हें चोर बना दिया।

कहावत है कि जब सितारे गर्दिश में होते हैं तो अच्छे-अच्छे लोग भी मकड़जाल में फंस जाते हैं। ऐसा ही हुआ चार दोस्तों के साथ। जो दिल में देश सेवा का जज्बा लिये फौज में जाने की तमन्ना रखते थे लेकिन तकदीर ने ऐसा खेल खेला कि चन्द पैसों के लालच ने चारों को हवालात पहुंचा दिया। जिसके बाद यह चारों फौज में जाना तो दूर, अब वहाँ जाने की सोच भी नही सकते। चारों ने सोशल मीडिया के यूट्यूब से एटीएम मशीन की पूरी जानकारी हासिल कर उसे काटने की योजना तो बनाई, लेकिन एटीएम से पैसा चुराने में कामयाब न हो सके। बदकिस्मती से चारों वहाँ लगी तीसरी आंख में कैद हो गये जिसने उन्हें हवालात में पहुँचा दिया। वहीं इस घटना से फौज में जाने के उनके सारे अरमान भी ठंडे हो गये, जो अब कभी फौज में भर्ती नही हो सकते।

हुआ यूं कि उधम सिंह नगर के काशीपुर में विगत 26 सितम्बर की रात चार युवकों ने बाज़पुर रोड स्थित पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम के ताले काटकर मशीन से पैसा चुराने का प्रयास किया था लेकिन अनुभव की कमी के चलते वह एटीएम मशीन काटने में पूरी तरह कामयाब न हो सके और मौके से खिसक लिये। लेकिन उन्हें क्या पता था कि किस्मत को कुछ ओर ही मंजूर है और वह घटना को अंजाम देते एटीएम में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गये। वहीं अगले दिन एटीएम के ताले काटे जाने की रिपोर्ट शाखा प्रबंधक पीयूष कुमार ने कोतवाली में दर्ज करायी थी जिस पर पुलिस ने तुरंत कार्यवाही करते हुए एटीएम में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला। जहाँ घटना को अंजाम देते हुए यह चारों युवक (जिसमें दो एटीएम के अंदर तथा दो बाहर खड़े थे) नजर आये। फुटेज के आधार पर पुलिस ने चारों आरोपियों की पहचान कर उनका धर दबोचा और सलाखों के पीछे भेज दिया। पकड़े गये चारों युवकों की उम्र 21 से 24 वर्ष के बीच है।

घटना का खुलासा करते हुए एएसपी राजेश भट्ट ने बताया कि पकड़े गये चारों अभियुक्त आपस में दोस्त हैं जिनमें से दो यूपी तथा दो काशीपुर के हैं। जिन्होंने सोशल मीडिया यूट्यूब से जानकारी हासिल कर इस घटना को अंजाम दिया था। घटना के वक्त दो आरोपी एटीएम के अंदर तथा दो एटीएम के बाहर खड़े थे। वहीं घटना से पहले चारों आरोपियों ने जगह की रैकी भी की थी।

Related posts

पढ़िये खबर !…..महाविद्यालय में 40 सीटें रिक्त ! फिर भी प्रवेश से वंचित छात्र-छात्राएं ! आखिर ऐसा क्यों…..?

Sonu Ansari

देखिये…..ये क्या कर डाला मंत्री अरविंद पांडे ने और फिर…..

काला सच

देखिये…..कैसे फिरा नगर पंचायत के मंसूबों पर पानी!

काला सच

देखिए वीडियो !…..किसानों की मुख्यमंत्री को चेतावनी ! न आएं काशीपुर रैली में, वरना उखाड़ देंगे टेंट !

काला सच

देखिये ! आखिर किसने बताया जिला पंचायत की चुंगी को अवैध ! और फिर…..?

काला सच

देखें !…… किस जगह के किसानों ने भारत बंदी पर भारत को पूर्णतः बंद कराने को लेकर कसी कमर

काला सच

Leave a Comment